Month: July 2017


प्यार का इजहार !


उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है,
उन से नहीं कहे पाना हमारी मजबूरी है,
वो क्युं नहीं समझते हमारी खामोशी को,
क्या प्यार का इजहार करना जरूरी है..


जिंदगी में बहुत सारे गम मिलेंगे !


जिंदगी में बहुत सारे गम मिलेंगे,
सच्चे साथी बहुत कम मिलेंगे,
इस राह पर सब छोड़ देंगे तुम्हारा साथ,
उस राह पर तुम्हें हम मिलेंगे..


कुछ रिश्ते खून के होते हैं!


कुछ रिश्ते खून के होते हैं,
कुछ रिश्ते पैसे के होते हैं,
जो लोग बिना रिश्ते के ही रिश्ते निभाते हैं,
शायद वही दोस्त कहलाते हैं..


सुबह का नजारा !


सुबह का नजारा भी क्या खूब है,
फिर क्यों मुझसे दूर मेरा महबूब है,
हमें आती है पल पल आपकी याद,
ये आपकी निगाहों का कुसूर है..


वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए!


वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो ख़ुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी ख़ामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जाए..


शुक्रिया ज़िन्दगी…


शुक्रिया ज़िन्दगी…जीने का हुनर सिखा दिया,
कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।


चाहत का पैगाम !


कभी उसने भी हमें चाहत का पैगाम लिखा था,
सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था,
सुना हैं आज उनको हमारे जिक्र से भी नफ़रत है,
जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था..


भरोसा रखो हमारी दोस्ती पर!


भरोसा रखो हमारी दोस्ती पर,
हम किसी का दिल दुखाया नही करते,
आप और आपका अंदाज़ हमे अच्छा लगा,
वरना हम किसी को दोस्त बनाया नही करते..


जी ले अपनी जिंदगी !


एक लड़का क्लास में लड़की को रोज चुपके चुपके देखा करता था,
एक दिन लड़का बोला – I Love You,
लड़की – अगर मैं भी I Love You बोलूँ, तो तुमको कैसा लगेगा?
लड़का – जानम, मैं तो ख़ुशी से मर जाऊँगा,
लड़की बड़ी चालाक निकली,
तिरछी नजर घुमा के बोली- जा नहीं बोलती, जी ले अपनी जिंदगी 😛 😛 😛 😛


एक लडकी थी..


एक लडकी थी.. बहुत एटिट्यूड दिखाती थी .. और कहती थी की .. मे तो ऐसे लड़के से शादी करूँगी जिसके पास औडी कार हो..
आज वो बहुत दिनो बाद ..अपने पति के साथ ..उसकी मोटर-साइकल की टंकी मे फूंक मारती दिखी… कसम से मुझे तो रोना आ गया 😛 😛 😛